air pollution in hindi

वायु प्रदूषण पर निबंध Essay on Air Pollution in hindi

Essay on Air Pollution in hindi   वायु प्रदूषण पर निबंध

Essay on  Air Pollution हेल्लो दोस्तों, आज के इस लेख में हमने कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 के छात्रों के लिए  Air Pollution  पर निबंध प्रस्तुत किया है। जिससे सभी छात्रों को Air Pollution  के बारे में पता हो और उनको इस समस्या को कैसे हल करना ही इसका भी ज्ञान प्राप्त हो।

 

वायु प्रदूषण पर निबंध 1(100 शब्द)   Essay on Air Pollution

आज के इस आधुनिकता के दौर में वायु प्रदूषण पूरे विश्व मे एक गंभीर समस्या है। इसका मुख्य कारण औधोगिकीकरण है। वर्तमान समय में बड़े बड़े शहरों में जो कारख़ानों और वाहनों से निकलने वाली गैसों में दूषित गैसें होती है जो हमारे वातावरण को दूषित कर रही है, इसके कारण वायु प्रदूषण जैसी गंभीर समस्या का हमें सामना करना पड़ रहा है।

वायु प्रदूषण का प्रभाव पेड़-पौधों, जीव-जंतुओं के साथ साथ मनुष्यों पर भी पड़ता है। इसके कारण हर साल लाखों लोग गंभीर रूप बीमार पड़ते है और बहुत से लोगो की मृत्यु भी हो जाती है।

इसके समाधान के लिए हमें अपने कर्तव्य को समझना होगा। हमें लोगो को जागरूक करना होगा कि वे वाहनों का इस्तेमाल कम करे। सार्वजनिक वाहनों का इस्तेमाल करना चाहिए।

 

वायु प्रदूषण पर निबंध 2 (200 शब्द) Essay on Air Pollution

वर्तमान समय में वायु प्रदूषण हमारे देश के साथ-साथ पूरे विश्व के लिए एक गंभीर समस्या है।  अगर वायु प्रदूषण की बात करें तो इसका अर्थ है – वातावरण में उपस्थित गैसों में उपस्तिथ अवांछित गैसें जो हमारे पर्यावरण और जीव-जंतुओं के लिए हानिकारक होते है। इन गैसों को प्रदूषित गैसें कहते है।

वायु प्रदूषण का मुख्य स्रोत कारख़ानों से निकलने वाली दूषित गैसें, वाहनों से निकलने वाली गैसें, कचरे से निकलने वाली गैसें, प्लास्टिक के जलने से निकलने वाली गैसें, धुल, मिट्टी आदि वायु प्रदूषण के मुख्य स्रोत है।

वायु प्रदूषण हमारे लिए घातक है ये जानते हुए भी हम इसके समाधान के लिए कुछ नही कर रहे है। इसके प्रभाव से हर साल बहुत से लोग गंभीर बीमारी से झूझते है। इसका प्रभाव हमारे वातावरण और हमारे ऊपर भी पड़ता है। इसके कारण ही आज ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्या आ रही है क्योंकि वायुमंडल में विषैली गैसें बढ़ रही है जिससे पृथ्वी का तापमान बढ़ रहा है।

इसके फलस्वरूप ग्लेशियर पिघल रहे है। और आने वाले समय में इसके कारण कुछ देश और राज्य पानी में डूब सकते है। वायु प्रदूषण से ही अम्लीय वर्षा जैसी समस्या हमारे सामने आती है।

इसके समाधान के लिए हमें सबसे पहले लोगो को जागरूक करना होगा, क्योंकि लोगो के द्वारा किये कार्यों की वजह से ही आज वायु प्रदूषण जैसी समस्या सामने आई है। वाहनों का उपयोग कम करना होगा, कारख़ानों की ज़हरीली गैसों का सही रूप में रुपांतरण करना होगा जिससे इस समस्या से छुटकारा पा सके।

इसे भी पढ़ें – ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध essay on global warming in hindi

वायु प्रदूषण पर निबंध 3  (300 शब्द) Essay on Air Pollution

 

हेल्लो दोस्तों, आज के इस लेख में हमने वायु प्रदूषण पर निबंध Essay on Air Pollution प्रस्तुत किया है।

आज हमारा वातावरण खतरे में है क्योंकि वायु प्रदूषण धीरे-धीरे इसे नष्ट कर रहा है । वायु प्रदूषण का अर्थ ही है वायु में अशुद्धि। जब हमारे वायुमंडल में विषैली और अवांछित गैसें उत्पन्न हो जाये, जो हमारे लिये खतरनाक हो। ऐसी स्थिति में हमें इसके  प्रति कड़े कदम उठाना चाहिए क्योंकि ये हमारे साथ- साथ हमारे आने वाली पीढ़ी के लिए भी है।

वायु प्रदूषण का कारण (causes of air pollution) हमारे द्वारा चलाये जाने वाले वाहनों और बड़े बड़े कारख़ानों से निकलने वाली ज़हरीली गैसें, जंगलों में पेड़-पौधे के जलने से निकलने वाले धुएँ, औद्योगिक इकाइयों और आणविक संयंत्रों से निकलने वाली गैसों के कारण ही वायु प्रदूषण जैसी गंभीर समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

वायु प्रदूषण का प्रभाव (effects of air pollution) मूल रूप से हमारे वातावरण पर पड़ता है जोकि हमारे लिए नुकसानदायक है। इसके कारण आज ओज़ोन छिद्र, अम्लीय वर्षा, मनुष्यों में अनेको बीमारियाँ, ग्लोबल वार्मिंग  और बहुत से पौधों के संकट ग्रस्त होने का प्रमुख कारण वायु प्रदूषण है।

वायु प्रदूषण के समाधान के लिए हमें एक जुट होकर आगे आना होगा। क्योंकि जब हम इसे अपना कर्तव्य समझेंगे तभी हम ऐसी समस्यों की समाप्त कर पाएंगे। सरकार द्वारा तो बहुत से योजनाये चलाई जा रही है, लेकिन जब तक लोगो में जागरूकता नही होगी हम इस समस्या को ख़त्म नही कर सकते है।

इसके लिए हमें लोगो को जागरूक करना पड़ेगा। इसके अतिरिक्त हमें सार्वजनिक वहां का उपयोग करना चाहिए, ज्यादा से ज्यादा पेड़ों को लगाना चाहिए। कारख़ानों के जहरीली गैसों का सही तरह से रुपांतरण करना चाहिए।

 

वायु प्रदूषण पर निबंध 4 (500 शब्द) Essay on Air Pollution

वायु प्रदूषण (Air Pollution) – आज के इस आधुनिक दौर में लोगो बिना कुछ सोचे समझे आधुनिक यंत्रो का उपयोग करते है जिसकी वजह से हमारी वातावरण में उपस्थित हवा में अवांछित गैसों, धूल के कणों आ जाते है। जो हमारे और हमारे पर्यावरण के लिए खतरा उत्पन्न करते है।  अगर इसके आसान भाषा ने कहा जाये, तो जब ऐसी गैसें हो हमारी वायु को गन्दा करे या वायु को दूषित करे तो उसे वायु प्रदूषण   कहते है।

इसे भी पढ़े – Essay on terrorism

वायु प्रदूषण का कारण causes of air pollution

वायु प्रदूषण के उत्पन्न होने के का सबसे मूल कारण यह है कि हमारे द्वारा चलाये जाने वाले वाहनों और बड़े बड़े कारख़ानों से निकलने वाला धुआँ है। इसके अतिरिक्त औद्योगिक इकाइयों आणविक संयंत्रों और जंगलों में पेड़-पौधे के जलने से निकलने वाले धुएँ से भी वायु प्रदूषण   होता है।

वायु प्रदूषण के प्रभाव (cause and effect of air pollution) इसका प्रभाव पेड़- पौधों और जीव- जंतुओं से साथ साथ मनुष्यों और हमारे पर्यावरण पर भी पड़ता है। जो निम्न प्रकार के है –

  1. वायु प्रदूषण के कारण हमारी पृथ्वी का तापमान धीरे-धीरे बढ़ रहा है और इसके कारण ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्या हमारे सामने आ रही है। इससे ध्रुव पर उपस्थित बर्फ  पिघलेगी और बहुत से छोटे देश इसमें डूब सकते है।
  2. इससे अम्लीय वर्षा का खतरा बढ़ता जा रहा है। अम्लीय वर्षा होने का मुख्य वजह यह है कि सल्फर डाई ऑक्साइड और नाइट्रोजन ऑक्साइड दोनों जब पानी के साथ मिलते है तो सल्फ़्यूरिक अम्ल (H2SO4) का निर्माण होता है। ये पानी के साथ ज़मीन पर गिरता है और बहुत से महत्वपूर्ण जैसे इमारतें, फासले और मनुष्यों का नुक्सान करता है।
  3. इससे ठंडक से दिनों में कोहरा के धुएं और  धूल के कणों के साथ मिल जाती है और इससे आँखों में जलन और साँस लेने में तकलीफ़ होती है।
  4. वायु प्रदूषण का प्रभाव मुख्य रूप से मनुष्यों पर होता है इससे मनुष्यों में कई प्रकार के बिमारियों होने के संभावना बढ़ जाती है।

इसे भी पढ़ें – Essay on GST   जी.एस.टी. पर निबंध

वायु प्रदूषण को रोकने का उपाय (Solution of Air Pollution)

  1. वायु प्रदूषण को रोकने  के लिए हमें बहुत अधिक मात्रा में पेड़ लगाना चाहिए क्योंकि वृक्षों के द्वारा ही कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्र को कम किया जा सकता है। वृक्षारोपण हमें सड़कों के किनारे पर ज्यादा करना चाहिये जिससे वाहनों से निकलने वाली कार्बन डाई ऑक्साइड को आसानी से ऑक्सीजन में बदला सके।
  2. निजी वाहनों का उपयोग कम करना होगा जिससे वायु प्रदूषण कम हो सके। निजी वाहनों की जगह पर हमें सार्वजनिक वाहनों का प्रयोग करना चाहिए।
  3. कारख़ानों की चिमनियो से निकालने वाली गैसों की मात्रा को करना चाहिए।
  4.   जीवाश्म ईंधन के स्थान पर सौर उर्जा और प्राकृतिक गैस का इस्तेमाल करे।

 

 

 

9 thoughts on “वायु प्रदूषण पर निबंध Essay on Air Pollution in hindi”

Leave a Comment